Kundali Bhagya 22 March 2024: निधी ने की आत्महत्या करण गिरफ्तार

आज कुंडली भाग्य 21 मार्च 2024 के शुरआत में लूथरा परिवार निधि के लिए चिंता कर रहा होता है, और महेश करण को लेकर दूसरी तरफ जाता है और निधि की हालत के लिए करण को दोषी ठहराता है।

Kundali Bhagya 22 March 2024: निधी ने की आत्महत्या करण गिरफ्तार
Kundali Bhagya Written Update Today


महेश करण से कहता है कि अपने परिवार की देखभाल करना एक इंसान की जिम्मेदारी होती है और तुम ऐसा करने में विफल रहे है। तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।

इसके बाद, वह कहता है कि निधि एक साहसी लड़की है और उसने शौर्य को बचपन से संभाला है, और इसलिए वह अचानक से इतना बड़ा कदम नहीं उठा सकती जरूर उनके बीच कुछ बड़ा हुआ है।

करण का कहना है कि उसने निधि को समझाने की कोशिश की थी लेकिन महेश उसे डांटता रहता है। वह उसे  बीती बातों से आगे बढ़ने के लिए कहता है और करीना भी उसके साथ शामिल हो जाती है।

इसके बाद करण भगवान से प्रार्थना करता है और कहता है कि, वह एकदम से टूट चुका है और चीजों को ठीक करने में असमर्थ है। भले ही वह शौर्य को संभाल नहीं सकता है लेकिन वह हमेशा से ही शौर्य को बताना चाहता है कि, वह शौर्य से कितना प्यार करता है। लेकिन वह कभी ऐसा नहीं कर पाता है। लेकिन वह निधि की परवाह भी करता है और अपने परिवार को भी साथ रखना चाहता है।

तभी प्रीता दूर से करण को प्रार्थना करते हुए देखती है। करण कहता है कि, उसकी पत्नी को कुछ भी याद नहीं है और वह उसे कुछ याद भी नहीं दिला सकता है। लेकिन प्रीता करण की बातों को समझ नहीं पाती है। बल्कि वह करण के साथ भगवान से प्रार्थना करना शुरू कर देती है।

इधर अंशुमान सोचता है कि, अभी लूथरा परिवार अस्पताल में व्यस्त है और यही उसके लिए उन डील और संपत्ति के कागजात प्राप्त करने का एक अच्छा मौका है जो कि करण ने उससे सालों पहले छीने थे।

तब वह राजवीर को उस काम के लिए बुलाता है जो कि शुरू में चोरी करने से इनकार कर देता है लेकिन जब अंशुमान उसे अपना बदला याद दिलाता है तो वह उससे सहमत हो जाता है।

दुसरी ओर प्रीता करण को दर्द में देखकर रोने लगती है। करण उससे रोने की वजह पूछता है, तब प्रीता उसे बताती है कि, वह उसका दर्द समझ सकती है और करण को लगता है कि, प्रीता का दिल अभी भी उनसे जुड़ा हुआ है।तभी प्रीता करण को बताती है कि, निधि ने खुदकुशी करने की कोशिश की है।  इससे पहले भी रसोई में उसने कोशिश की थी, लेकिन उसने उसे बचा लिया और उस समय वह उसके इरादों को नहीं समझ सकी। वह कहती है कि, अगर वह उस समय निधि के इरादों को समझ जाती तो शायद वह निधि को बचा लेती। लेकिन तभी करीना करण को लेने के लिए वहां आती है और पुलिस भी आ जाती है।

उधर राजवीर जाने ही वाला होता है कि तभी वह पालकी को देखता है और उनके बीच हुई बहस उसे याद आ जाती है, और वह पालकी से बात करने की कोशिश करता है। लेकिन पालकी उसे इग्नोर कर देती है, इसलिए राजवीर उससे बाद में बात करने का फैसला करता है और आगे बढ़ता है लेकिन जल्द ही वह अपनी बाइक रोक देता है।वह बाइक के साइड मिरर में पालकी को देखने की कोशिश करता है लेकिन पालकी को नहीं देख पाता। इसके बाद पालकी वापस आती है लेकिन राजवीर उसे वहां नहीं मिलता है और वे दोनो एक-दूसरे को गलत समझते हैं।

अंशुमान पत्रकार शुक्ला को शहर के एक अस्पताल में बुलाता है कि वह निधि के आत्महत्या के प्रयास की खबर को कवर करेगा और यही सोचकर खुश होता है कि अब करण को बर्बाद होने से कोई नहीं बचा सकता।

पुलिस भी निधि के आत्महत्या के प्रयास के लिए करण को ही दोषी ठहराती है लेकिन शौर्य उसका बचाव करता है। इंस्पेक्टर का कहना है कि ज्यादातर मामलों में, आत्महत्या करने के प्रयास के लिए पति ही जिम्मेदार होता है। इसीलिए वह करण को गिरफ्तार करने वाला होता है लेकिन करण इंस्पेक्टर से विनती करता है कि, वह अभी के लिए उसे छोड़ दे लेकिन बाद में खुद ही पुलिस स्टेशन आ जायेगा।

तभी शौर्य निधि से उसके आत्महत्या करने के प्रयास का कारण पूछता है और महेश से बात करने के लिए जाता है। जबकि राजवीर जरूरी कागजात लेने के बहाने से लूथरा के घर आता है ताकि गिरीश उसे अनुमति दे दे।

वहीं दूसरी तरफ, करीना निधि के इस हाल के लिए प्रीता को दोषी ठहराती है। लेकिन दादी इस स्थिति को संभाल लेती है। लेकिन प्रीता को लगता है कि, उससे कुछ छिपाया जा रहा है। इसके बाद आज का एपीसोड समाप्त होता है।