Kundali bhagya 18 March 2024: प्रीता के लिए करण हुआ परेशान

Kundali bhagya 18 March 2024: निधि को वह कैसे वरुण और काव्या के साथ पैचअप किया था, याद आता है। वह अपनी और करण की फोटो को गले लगाते हुए रोती है। फिर वह उस तस्वीर को फाड़ देती है। उससे कहते हुए कि उसकी जिंदगी उसके बिना अधूरी है, तो वह उसके बिना कैसे रह सकती है।

Kundali bhagya 18 March 2024: प्रीता के लिए करण हुआ परेशान
Kundali bhagya 18 March 2024: प्रीता के लिए करण हुआ परेशान


Kundali bhagya 18th March 2024 Written Update On LallanTops.com

Kundali bhagya 18 March 2024: एपिसोड शुरू होते ही, निधि को वह कैसे वरुण और काव्या के साथ पैचअप किया था, याद आता है। वह अपनी और करण की फोटो को गले लगाते हुए रोती है। फिर वह उस तस्वीर को फाड़ देती है। उससे कहते हुए कि उसकी जिंदगी उसके बिना अधूरी है, तो वह उसके बिना कैसे रह सकती है। उसने कहा कि वह करण के बिना नहीं रह सकती। राखी निधि से पूछती है कि निधि परेशान क्यों लग रही है। निधि सिर हिलाती हैं। फिर राखी निधि से पूछती है कि, क्या करण ने निधि से लड़ाई की थी? निधि बिना कुछ कहे ही वहां से चली जाती है। तब राखी करण से बात करने का फैसला करती है।

इस दौरान, प्रीता दादी को कमरे से बाहर निकलते हुए देखती है। तब वह दादी से पूछती है कि वह कहां जा रही हैं। दादी प्रीता से कहती है कि वह दूध लेने के लिए रसोई में जा रही है। प्रीता दादी से कहती है कि वह दादी की देखभाल के लिए वहां रह रही है इसलिए वह दादी के लिए दूध खुद जाकर लाएगी। और वह वहां से चली जाती है।

राखी करण के कमरे में प्रवेश करती है और करण को बताती है कि निधि परेशान है। वह कहती है कि करण ने निधि को कुछ बताया होगा। करण इस बात को स्वीकार करता है कि निधि के साथ उसकी बहस हुई थी। फिर वह अनुमान लगाती है कि उनके तर्क का विषय प्रीता होना चाहिए। वह उससे कहता है कि उसका शुरू से ही यही रुख रहा है लेकिन निधि इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं है। वह उससे कहती है कि अगर वह प्रीता का समर्थन करने के लिए निधि के खिलाफ गया तो वह उसका समर्थन नहीं करेगी। राखी के मुंह से यह बात सुनकर वह चौंक जाता है।

वह उसे याद दिलाती है कि वह चाहती थी कि वह प्रीता के साथ खुश रहे, पर अब चीजें काफी बदल गई हैं। उसने कहा कि प्रीता करण का अतीत है और अब करण प्रीता के साथ खुश नहीं रह सकता। उसने बताया कि प्रीता ने उसे बहुत साल पहले ही छोड़ दिया था। उसने बताया कि प्रीता अपनी यादें खो चुकी हैं। उसने कहा कि दादी ने प्रीता को टीकाकरण के लिए अस्पताल नहीं जाने को कहा था, पर प्रीता ने उसे मानने से इनकार कर दिया। फिर उसने कहा कि करण प्यार में अंधा हो गया है और उसे प्रीता के अलावा कोई नजर नहीं आता। उसने पूछा कि उसकी ऐसी बातों का क्या कारण हो सकता है।

उसने कहा कि वह उसकी मां है और उसकी खुशी चाहती है। उसने याद दिलाया कि जब प्रीता ने उसे छोड़ दिया था, तो निधि ने उसके परिवार और उसके बच्चों का समर्थन किया था। उसने निधि से उसके अधिकार न छीनने की अपील की। उसने कहा कि निधि का बलिदान प्रीता और करण के प्यार से भी ऊपर है। वह उससे प्रीता के लिए निधि को परेशान न करने की अपील की। उसने कहा कि प्रीता को दादी का इलाज कराने के बाद लूथरा हाउस छोड़ना होगा। और यह कहकर उसने वहाँ से चल दिया।

दूसरी ओर, राजवीर ने पालकी से पूछा कि वह परेशान क्यों लग रही है। पालकी ने बताया कि उसे ऐसा लगता है कि उसने उससे एक सच कहा है और कई सच उससे छुपाए हैं। उसने कहा कि उसे अपने अतीत को भूलने में मुश्किल हो रही है और उसे अपना बदला भी नहीं छोड़ सकता। उसने कहा कि वह असहाय महसूस कर रहा है और अंदर चला गया।

निधि रसोई में खुद को मारने की कोशिश करती है। उसको ऐसा उम्मीद है कि करण उसकी मौत के बाद उसे याद रखेगा। तभी प्रीता वहां आती है और निधि से कहती है कि ऐसा लगता है जैसे गैस लीक हो रही है। वह निधि को वहां से भेजती है। उसने गैस का नॉब बंद कर दिया। वह सोचती है कि निधि को गैस की गंध नहीं आई और फिर उसे कुछ एहसास हुआ।