HomeMotivationIAS अधिकारी को मिलने वाली सुविधायें और वेतन भत्ते

IAS अधिकारी को मिलने वाली सुविधायें और वेतन भत्ते

IAS एक पॉवरफुल पोस्ट माना जाता है लेकिन इस पावर के साथ मिलने वाले वेतन और सुविधाओं का भी एक अहम कारण है इस पद की लोकप्रियता का। आईएएस बनने के लिये UPSC का एग्जाम क्लियर करना पड़ता है। आज हम जानेंगे आईएएस अधिकारी को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में।

आज कल के युवाओं में सिविल सेवा परीक्षा पास करने की सबसे ज्यादा इच्छा होती है। आईएएस अधिकारी बनना काफी गर्व की बात होती है। एक आईएएस अधिकारी बनना इतना आसान नहीं होता है लेकिन इन्हें मिलने वाली सुविधाओं का भी अहम भूमिका है इस पद को इतना लोकप्रिय बनाने में। इन तमाम सुविधाओं और वेतन के बाद भी जब भी बात वेतन की होती है तो उम्मीदवारों द्वारा वेतन की आलोचना सुनने को मिलता है। इसका कारण है कि प्राइवेट सेक्टर को जो वेतन मिलता है वह आईएएस के शीर्ष रैंक के अधिकारी को भी नहीं मिलता है।

आज यह समझेगे की एक आईएएस अधिकारी को क्या क्या सुविधाएं मिलती हैं।

आईएएस अधिकारी का वेतन, प्रोमोशन और रैंक

आवास

जिस राज्य में तैनाती होती है उस राज्य के वीवीआईपी क्षेत्र में एक शानदार बंगला आवास के लिए दिया जाता है। यह अधिकारी के रैंक पर निर्भर करता है कि वह किस जगह पर तैनात हैं। जिला स्तर के अधिकारी को जिले में औऱ उच्च अधिकारियों को प्रदेश की राजधानी के वीवीआईपी क्षेत्र में यह आवास दिया जाता है।

परिवहन

एक आईएएस अधिकारी को आवाजाही के लिए सरकार के द्वारा परिवहन भी उपलब्ध कराया जाता है। कम से कम एक एव अधिकतम तीन वाहन सरकारी चालक सहित दिया जाता है। आईएएस अधिकारी को मिले वाहन का खर्चा जिसमे ईंधन एवं मेंटिनेंस शामिल होता है उसका खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाता है।

सुरक्षा व्यवस्था

किसी भी आईएएस अधिकारी एवं उनके परिवार की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाते हैं। राज्य मुख्यालय में तैनात अधिकारियों को तीन होमगार्ड और दो बॉडीगार्ड दिए जाते हैं। लेकिन जरूरत पड़ने पर इन्हें एसटीएफ कमांडो भी दिया जा सकता है। जिला मजिस्ट्रेट / आयुक्त के अंतर्गत उस जिले का पूरा पुलिस प्रशासन होता है। अतः वे अपनी आवश्यकता के अनुसार अपना सुरक्षा व्यवस्था अपने अनुसार खुद ही बना सकते हैं। जिस प्रकार से उन्हें आवश्यकता होती है उतना सुरक्षा बल वो अपने साथ रख सकते हैं।

बिल

एक आईएएस अधिकारी को आम घरेलू सुविधाओं के लिए लगभग न के बराबर खर्चा करना पड़ता है। जैसे आईएएस अधिकारी के कार्यालयी आवास के लिए बिजली या तो मुफ्त में उपलब्ध कराया जाता है या फिर इतना अधिक सब्सिडी पर उपलब्ध कराया जाता है कि शायद उनका उपयोग ही उतना हो। इसी तरह से मुफ्त फोन कॉल, एसएमएस और इंटरनेट सेवाओं के साथ 3 BSNL सिम कार्ड मुफ्त उपलब्ध कराया जाता है। इसके साथ ही लैंडलाइन और ब्रॉडबैंड कनेक्शन भी फ्री में उपलब्ध कराया जाता है।

यात्रा सुविधा

एक आईएएस अफसर को आधिकारिक और अनाधिकारिक यात्रा के दौरान सर्किट हाउस, सरकारी बंगले या अन्य राज्यों के सरकारी बंगलो में किफायती दरों पर आवास सुविधा उपलब्ध कराया जाता है। देश की राजधानी दिल्ली में यात्रा के दौरान संबंधित राज्य भवन में सभी आवास सुविधाओं के साथ ठहरने का उचित प्रबंध होता है।

घरेलू स्टाफ भी दिए जाते हैं

एक आईएएस अधिकारी को घरेलू कार्य के देखभाल के लिए घरेलू स्टाफ भी मिलते हैं। इन स्टाफ का वेतन सरकार द्वारा वहन किया जाता है। जैसे रसोइया, माली

अध्ययन के लिए अवकाश

ऊपर दी गई सभी सुविधाओं के अलावा एक सुविधा यह भी है जो एक आईएएस अधिकारी को दिया जाता है। इसके लिए एक आईएएस अधिकारी 2 से 4 वर्ष का अध्ययन अवकाश लेकर किसी भी विदेशी विश्वविद्यालय में वहां जा कर अध्ययन कर सकते हैं। इसके लिए जो भी खर्च आएगा वह सरकार द्वारा वहन किया जाता है।

आईएएस अधिकारी को मिलने वाली अन्य सुविधाएं

ऊपर दी गयी सभी सुविधाओं के अलावा कुछ अन्य सुविधाएं भी हैं जो कि एक आईएएस अधिकारी को मिलती हैं। जैसे पीएफ, ग्रेच्युटी, स्वास्थ्य सेवाएं, जीवन भर पेंशन आदि।

इसके अलावा कुछ अन्य लाभ है जिन्हें अनाधिकारिक लाभ कहा जाता है। जैसे जिले या उनके आधिकारिक क्षेत्र में होने वाले किसी भी समारोह में मुख्यातिथि के रूप बुलाया जाना। किसी विशेष आयोजन जैसे क्रिकेट मैच का पास इत्यादि।

FAQ

IAS के लिये कौन सी डिग्री चाहिए?

IAS (आईएएस) बनने के लिये किसी भी विषय से स्नातक की डिग्री होना अनिवार्य है। इसके बाद आप UPSC की परीक्षा दे सकते हैं।

आईएएस के लिये आयु सीमा क्या है?

UPSC Age Limit: आईएएस बनने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधितम आयु 32 वर्ष है। सामान्य वर्ग के परीक्षार्थी 32 वर्ष तक ही परीक्षा दे सकते हैं। ओबीसी 32 वर्ष + 3 वर्ष = 35 वर्ष। एससी/एसटी 32 वर्ष + 5 वर्ष = 37 वर्ष। आयु सीमा में छूट के लिए जाति प्रमाण पत्र देना आवश्यक है।

UPSC IAS में कितने प्रयास होते हैं?

UPSC IAS के लिए सामान्य वर्ग को 6 प्रयास मिलता है। अन्य वर्ग को उनके प्रमाण पत्र के अनुसार अतिरिक्त प्रयास करने की छूट मिलती है।

मैं 12वीं के बाद आईएएस ऑफिसर कैसे बन सकता हूँ?

ऐसा विषय चुनें जिसमे आपकी रुचि सबसे ज्यादा हो। और 12वीं के बाद से ही आईएएस के लिये तैयारी करते रहें। स्नातक करने के बाद UPSC Civil Services की परीक्षा में भाग लेना होगा। आईएएस बनने के यूपीएससी सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करना पड़ता है। यह तीन चरणों में होती है। प्रिलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू।

RELATED ARTICLES

Most Popular