Holi 2024: इस साल होली कब है? जानें होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Holi 2024 Date: भारत में होली का पर्व एक सांस्कृतिक, धार्मिक और पारंपरिक त्योहार माना जाता है। होली के लिए समस्त भारत देश में गजब का उत्साह दिखाई देता है। होली को भाईचारा, आपसी प्रेम और सद्भावना का त्योहार भी माना जाता है। आज के दिन लोग एक दूसरे को रंग और अबीर लगाते हैं।

Holi 2024: इस साल होली कब है? जानें होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
Holi 2024: इस साल होली कब है? जानें होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि


Holi 2024: हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से होली भी एक प्रमुख पर्व है। वसंत के बाद ही लोग होली का इंतजार करने लगते हैं। फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की पूनम की रात में होलिका दहन किया जाता है। होलिका दहन के दूसरे दिन होली खेल कर इस पर्व को मनाते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार होलिका दहन को बुराई पर अच्छाई के विजय का प्रतीक माना जाता है।

Happy Holi Wishes

होली का पर्व एक सांस्कृतिक, धार्मिक और पारंपरिक त्योहार माना जाता है। होली के लिए समस्त भारत देश में गजब का उत्साह दिखाई देता है। होली को भाईचारा, आपसी प्रेम और सद्भावना का त्योहार भी माना जाता है। आज के दिन लोग एक दूसरे को रंग और अबीर लगाते हैं।

होली के दिन लोगों के घरों में गुझिया, गुलगुला और अन्य तरह के पकवान व व्यंजन बनाये जाते हैं। इस दिन लोग एक दूसरे को रंग लगाते हैं और दिनभर रंग खेलने के बाद शाम को अबीर लगाते हैं और गले मिलते हैं। इस दिन लोग आपसी मनमुटाव को भूलकर एकदूसरे के घर जाते हैं और भाईचारे को मजबूत करते हैं। तो आइए जानते हैं कि इस साल होली कब है? होलिका दहन का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि....

पूर्णिमा तिथि

इस साल 2024 में फाल्गुन पूर्णिमा तिथि 24 मार्च के दिन सुबह 09:54 बजे से प्रारंभ होगा। इसके साथ ही इस तिथि का समापन अगले दिन 25 मार्च 2024 को दोपहर 12:29 बजे होगा।

Happy Holi 2024 wishes

होलिका दहन 2024

इस साल 24 मार्च को होलिका दहन मनाया जाएगा। इस दिन होलिका दहन के लिए रात्रि 11:13 बजे से 12:27 बजे तक शुभ मुहूर्त है। इस तरह से होलिका दहन के लिए 1 घंटा 14 मिनट का शुभ मुहूर्त है।

कब है होली 2024?

जिस दिन होलिका दहन किया जाता है उसके अगले दिन होली खेलने का पर्व मनाया जाता है। इस तरह से 25 मार्च 2024 को होली का पर्व मनाया जायेगा। इस दिन पूरे देश में बड़े ही धूमधाम से होली का पर्व मनाया जायेगा।

होलिका दहन पूजा की विधि

  • होलिका दहन की पूजा करने के लिए सबसे जरूरी है कि आप स्नान करके पवित्र हो जाएं।
  • स्नान करने के बाद होलिका की पूजा स्थल पर उत्तर या पूरब दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं।
  • इसके बाद पूजा करने के लिए गाय के गोबर से होलिका और भक्त प्रहलाद की मूर्ति बनाएं।
  • पूजा करने के लिए पूजन सामग्री रोली, फूल, फूलों की माला, कच्चा सूत, गुड़, साबुत हल्दी,.मूंग, बताशे, गुलाल नारियल, 5 से 7 तरह के अनाज और एक लोटे में जल रख लें।
  • इतना कुछ करने के बाद आप इन सभी पूजन सामग्री के साथ विधि पूर्वक पूजा करें। मिठाइयां और फल, फूल चढ़ाएं।
  • होलिका की पूजा करने के साथ ही भगवान विष्णु के अवतार नरसिंह भगवान की भी विधि-विधान से पूजा करें।
  • विधि पूर्वक पूजन करने के बाद होलिका के चारों ओर सात बार परिक्रमा करें।

Happy Holi image

होली खेलते समय सावधानियां

  • ऐसे रंगों का उपयोग न करें जो आंखों या त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • कीचड़ और गोबर आदि से होली न खेलें।
  • हमेशा ध्यान रखें किसी को कोई चोट चपेट न लगे, क्योंकि होली खेलने के दौरान कुछ लोग उठा पटक करने लगते हैं।
  • किसी भी प्रकार की अभद्रता न करें यह आपसी भाई चारे को मजबूत करने का त्योहार है झगड़ने या किसी को दुख पहुंचाने का नहीं।
  • डीजे बजाते समय ध्यान रखें अश्लील और फूहड़ गाने न बजाएं।