Ghazal Singr Pankaj Udhas Death: नहीं रहे मशहूर गायक पंकज उधास, 72 की उम्र में कह गए अलविदा

Ghazal Singr Pankaj Udhas Death: फिल्म इंडस्ट्री से आई बुरी खबर। जाने माने मशहूर गजल सिंगर पंकज उधास का 72 की उम्र में निधन हो गया। उनकी बेटी ने यह खबर सोशल मीडिया पर पोस्ट की।

Ghazal Singr Pankaj Udhas Death: नहीं रहे मशहूर गायक पंकज उधास, 72 की उम्र में कह गए अलविदा
Ghazal Singr Pankaj Udhas Death: नहीं रहे मशहूर गायक पंकज उधास, 72 की उम्र में कह गए अलविदा


Ghazal Singr Pankaj Udhas Death: जाने माने मशहूर गजल सिंगर पंकज उधास का लंबी बीमारी के चलते उनका निधन हो गया। उनके निधन से पूरे बॉलीवुड इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई है। पंकज उधास ने अपने फिल्मी करियर में एक से बढ़ कर एक गाने इंडस्ट्री को दिए हैं। उनका एक गाना जो की फिल्म नाम में फिल्माया गया था 'चिट्ठी आई है वतन से चिट्ठी आई है' आज भी लोगों के दिलों पर राज करता है।

लंबी बीमारी के चलते हुआ निधन

मशहूर गजल गायक पंकज उधास का निधन उनके सभी चाहने वालों के लिए किसी सदमे से कम नहीं है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें और उनके परिवार को यह अपार दुख सहने की शक्ति प्रदान करें। हर किसी ने आज उन्हें सोशल मीडिया के जरिए नम आंखों से श्रद्धांजलि दे रहे हैं। उनकी लंबे समय से चल रही बीमारी उनके निधन का कारण बताया जा रहा है।

पंकज उधास की मशहूर गजलें

पंकज उधास ने अपनी गजल गायकी से बहुत नाम और शोहरत हासिल किया। उनकी सबसे अधिक लोकप्रिय गजलों में से एक है 'चिठ्ठी आई है' जो की नाम फिल्म से है। इस गजल को 1986 में रिलीज किया गया था। यह आज भी लोगों के दिलों में राज करता है। इसके अलावा चांदी जैसा रंग, चुपके चुपके सखियों से, ना कजरे की धार, एक तरफ उसका घर आदि गजल शामिल हैं। ये सभी गजलें उनकी सबसे लोकप्रिय गजलों में से हैं।

पंकज उधास को मिलने वाले अवार्ड्स

गजल गायकी में अपना लोहा मनवाने वाले पंकज उधास को उनकी गायकी से कला के क्षेत्र में योगदान के लिए कई पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। जिसमेें सबसे महत्वपूर्ण है पद्मश्री पुरस्कार जो की उनको 2006 में मिला था

बॉलीवुड के सितारों ने शोक जताया

पंकज उधास के निधन पर सिंगर सोनू निगम, अभिनेता जैकी श्रॉफ, मनोज बाजपेई, पंकज त्रिपाठी सहित अन्य कई सेलिब्रिटीज ने सोशल मीडिया के माध्यम से शोक जताया।

पहले परफॉर्मेंस के मिले मात्र 51रूपए

साल 1962 में जब इंडो चाइना युद्ध चल रहा था तब पंकज उधास ने अपना पहला स्टेज परफॉर्मेंस दिया। उस स्टेज पर पंकज ने "ऐ मेरे वतन के लोगों" गाया था। उनके गाने से खुश होकर लोगों ने उन्हें 51 रूपए दिए थे।

जमींदार थे पंकज के पिता

पंकज उधास का जन्म 17 मई 1951 को हुआ था।इनके पिताजी एक जमींदार थे। वह अपने तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। मनहार उधास जो की उनके बड़े भाई थे, फिल्म इंडस्ट्री के एक जाने माने सिंगर हुआ करते थे। निर्मल उधास उनके एक और भाई थे जो की गजल गायक थे।