HomeMovie Reviewअवतार 2 : Avtar : The Way of Water Review in Hindi

अवतार 2 : Avtar : The Way of Water Review in Hindi

Movie ReviewAvtar: The way of water
कलाकारसैम वर्थिंगटन, जो सल्डाना, सिग्रीन वीवर, स्टीफन लैंग, केट विंसलेट और कई लोग।
लेखकजेम्स कैमरून, रिक जफ़ा, अमांडा सिल्वर, जोश फ्रीडमैन, शेन सलरेनो
निर्माताजेम्स कैमरून और जॉन लैंडयू
निर्देशकजेम्स कैमरून
रिलीज16 दिसम्बर 2022
रेटिंग4.5/5 स्टार रेटिंग
Star Cast of Avtar: the way of water

फ़िल्म अवतार द वे ऑफ वाटर सिनेमा में कुछ अलग करने का एक नया अध्याय है। जेम्स कैमरून ने जब 2009 में इसकी पहली फ़िल्म अवतार को रिलीज किया था तो, उन्हें लोगों ने उन्हें इसके लिए सचेत किया था। लोगों को लगता था कि वे इस फ़िल्म में अपना करियर दांव पर लगा रहे हैं। लेकिन वो फ़िल्म दुनिया मे सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फ़िल्म बनी थी।

अवतार द वे ऑफ वॉटर (Avatar the way of water) न सिर्फ इंसानी कल्पना है बल्कि यह विश्व सिनेमा में एक नया उदाहरण है। इस फ़िल्म को देखना एक नई अनुभूति है। सिनेमा घर मे बैठकर समंदर की गहराइयों में समुद्री जीव जंतुओं के साथ आनंदित होना है। यह फ़िल्म इतनी अद्भुत एवं अलौकिक है कि आपको मजा आ जायेगा।

यह कहानी उस पेंडोरा की है जहां धरती के इंसानों को पहले बेशकीमती खनिजों की तलाश थी। लेकिन अब कहानी 10 साल आगे बढ़ चुकी है। धरती इंसानों के रहने के लायक नहीं बची है। अब यहां के लोगों को तलाश है एक ऐसे ग्रह की जहाँ इंसानी बस्तियां बसाई जा सके। इधर पूरी तरह से नावी बन चुके जेक साली और उसकी नावी प्रेमिका नेतिरी का परिवार बढ़ रहा है। इसके दो बेटे और एक बेटी है। एक गोद ली हुई बेटी भी है। और एक किशोर भी है जिसे इंसानों से ज्यादा नावी समुदाय के बीच रहना ज्यादा पसंद है।

कांतारा मूवी रिव्यू

कर्नल माइल्स भले पिछली फिल्म में मर गया है लेकिन उसकी यादों और उसके डीएनए से उसका अवतार बनाया जा चुका है। उसकी टुकड़ी भी नए अवतार में है। इनका मकसद जेक सली को ढूढ़ना और खत्म करना है।

इस फ़िल्म में इतनी क्षेपक कथाएं हैं जिनको की अलग से इनका विस्तार किया जा सकता है। जैसे हमारी भारतीय संस्कृति में शुरू से पढ़ाया जाता है कि खुद से पहले परिवार, परिवार से पहले समुदाय और समुदाय से भी पहले देश होना चाहिए। जेक सली भी यही करता है। अपने अहं को त्याग कर अपने परिवार को बचाने की कोशिश करता है। जब समुदाय पर संकट आता है तो अपने परिवार की खुशियां कुर्बान कर देता है।

जंगलों से निकल कर वह ऐसे द्वीप पर जाता है जहां के लोगों का जीवन पूरी तरह से पानी पर निर्भर है। सली का परिवार इस नए वातावरण में खुद को अनुकूलित करने का प्रयास करता है। इधर अब तक खनिज खोज रहे धरती के बैज्ञानिक यहां व्हेल मछली के मस्तिष्क से वह द्रव निकलते दिखते हैं जिससे कि उम्र को मात दी जा सके। लेकिन यह बात पानी को अपना जीवन बना चुके समुदाय को समझ ही नहीं आती है। उन्हें लगता है कि इस समुदाय की ही एक व्हेल हिंसक हो चुकी है।

स्पाइडर के सहारे इस फ़िल्म में हास्य उभरता है। कर्नल माइल्स का स्थायी भाव ही रौद्र है। नेतिरी के शोक और पायकन की कहानी से फ़िल्म का माहौल गमगीन होता है। सली के दोनों बच्चों में उत्साह का भाव देख कर वीर रस झलकता है। वीभत्स और भयानक दृश्य के लिए इंसानी फितरत का सबसे घ्रणित रूप भी सामने आता है। कुल मिलाकर इस फ़िल्म में आपको कई सारे रस देखने को मिलेगा। यह कहानी अपने आप मे एक अद्भुत है। इस कहानी को शानदार बनाने के लिए कैमरून ने इस फ़िल्म को 13 साल दिए हैं।

तीन घण्टे से भी लम्बी फ़िल्म अवतार द वे ऑफ वाटर की कहानी लिखने में और इसको बनाने में जो समय लगा। और उसके जो हमे देखने को मिला वाकई में अद्भुत है। यह एक बहुत ही बड़ी फ़िल्म है। आपको इसे देखना चाहिए।

RELATED ARTICLES

Most Popular